‘इस्पाती इरादे’ से हारेगा कोरोना, स्टील सेक्टर ने दिया 500 करोड़ रुपये दान

नई दिल्ली। अर्थव्यवस्था की बुनियाद कहे जाने वाला स्टील सेक्टर कोरोना से पैदा हुई आपदा की इस घड़ी में राहत कार्यों के लिए अग्रणी भूमिका निभाई है. केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने मंगलवार को स्टील सेक्टर द्वारा 500 करोड़ रुपये का डोनेशन पीएम केयर्स फंड में किए जाने की जानकारी दी. धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि स्टील सेक्टर द्वारा इस चुनौतीपूर्ण समय में किए गए इस योगदान से Covid-19 महामारी से निपटने में मदद मिलेगी. केंद्रीय मंत्री ने ट्वीट कर इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा ‘’यह घोषणा करते हुए गर्व की अनुभूति हो रही है कि इस्पात क्षेत्र से जुड़े सार्वजनिक एवं निजी उपक्रमों ने संयुक्त रूप से पीएम केयर्स फंड में 500 करोड़ रुपये का सहयोग दिया है. इसके अतिरिक्त सार्वजनिक उपक्रमों के कर्मचारियों द्वारा अपने वेतन से 15 करोड़ रुपये दान किया जाएगा. पीएम केयर्स फंड में इस्पात क्षेत्र द्वारा किया गया यह योगदान निश्चित रूप से देश को कोरोना के संकट से बाहर निकालने में मददगार साबित होगा. उन्होंने आगे कहा कि देश के सामने उत्पन्न हुई संकट की परिस्थिति में इस्पात क्षेत्र के प्रतिनिधियों द्वारा व्यक्त की गई यह प्रतिबद्धता प्रेरित करती है.

इन कंपनियों ने किया प्रमुख योगदान

पीएम केयर्स फंड में दान देने वाली सार्वजनिक कंपनियों में स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड 25 करोड़ रुपये, राष्ट्रीय इस्पात निगम लिमिटेड (आरआईएनएल) 5 करोड़ रुपये, एनएमडीसी 150 करोड़ रुपये, मॉइल (एमओआईएल) 45 करोड़ रुपये, मेकॉन 5 करोड़ रुपये, केआईओसीएल 10 करोड़ रुपये, एमएसटीसी 5 करोड़ रुपये, एफएसएनएल 5 करोड़ रुपये दान दे रही हैं. इसके साथ ही यह कंपनियां वित्तीय वर्ष 2019-20 में खर्च न की जा सकी सीएसआर की फंड जो संयुक्त रूप से लगभग 17.55 करोड़ रुपये है, उसे भी राहत कार्यों के लिए पीएम केयर्स फंड में जमा कराएंगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here