पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास की पहल पर डॉ नरेश त्रेहान ने दिया कोरोना से जुड़े हर सवाल का जवाब

नई दिल्ली से अरविन्द मिश्रा। कोरोना संकट को लेकर केंद्र की मोदी सरकार अब जान के साथ जहान की सुरक्षा की राह पर आगे बढ़ रही है। लोगों के स्वास्थ्य सुरक्षा को प्राथमिकता देते हुए रोजगार गतिविधियां भी शुरू की जा रही है। लेकिन जान और जहान दोनों की सुरक्षा बिना जागरुकता के संभव नहीं है। लोगों को कोरोना की जंग में सहभागी बनाने के मकसद से पं. गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास की पहल पर शनिवार 23 मई को वेबिनार का आयोजन किया गया। जिसमें चिकित्सा जागरुकता के प्रसार के लिए प्रसिद्ध ह्दय रोग विशेषज्ञ और मेदान्ता मेडिसिटी, गुड़गाँव के चेयरमैन डॉ नरेश त्रेहान ने लोगों के हर उस सवाल का जवाब दिया जो कोरोना संकट के दौरान लोगों के मन में उठ रहे हैं। इस वेबिनार में उत्तर प्रदेश एवं मध्यप्रदेश के 12 जिलों से 1246 लोग शामिल हुए। कुल 86 स्थानें से लोग इस वेबिनार में शामिल हुए। कार्यक्रम की ख़ास बात यह रही कि इसमें कई जनप्रतिनिधि और समाजसेवी शामिल रहे, जिन पर कोरोना संकट में जागरुकता के प्रसार की सबसे अहम जिम्मेदारी होती है।

इनकी रही विशेष उपस्थिति

कार्यक्रम में विधायक चुरहट शरदेंदु तिवारी, सतना भाजपा जिला अध्यक्ष नरेंद्र त्रिपाठी, पूर्व विधायक गुड्डन पाठक, समाजसेवी योगेश ताम्रकार, मणिकांत माहेश्वरी, संजय जैन (सीए प्रोफेशनल), समाचार संपादक अवधेश जी (नव स्वदेश), संजय शाह (नेजा), कामता पांडे, कृष्णा पांडे (सतना), मोतीलाल गोयल, रमेश मिश्र, अशोक गुप्ता (सामाजिक कार्यकर्ता, सतना), संजय नगाइच, सिंघई संजय जैन, प्रोफेसर जीपी रिछारिया, संजय अग्रवाल, प्रदीप खरे मंटू, विवेक चतुर्वेदी (टीकमगढ़) प्रवीण गुप्ता, साहित्य मिश्रा, राकेश शुक्ला राधे, शशांक मिश्रा, प्रवीण नायक (दिल्ली), विनीत रावत, दीपन वर्मा, विनोद यादव, कमलेश्वर अग्रवाल, संकठा द्वेदी, शकंर्षाणाचार्य महाराज, अनुराग गौतम, विवेक त्रिपाठी, जान्हवी त्रिपाठी, सीमा यादव, विजय तिवारी, डोली शर्मा, नीता सोनी, सुधीर रिछारिया, प्रवीण गुप्ता, मंटू खरे, मनीष सिंघल समेत सतना, रीवा, पन्ना, छतरपुर, टीकमगढ़, सागर और सीधी से बड़ी संख्या में लोग उपस्थित रहे। प्रस्तुत है इस वेबिनार में पूछे गए महत्वपूर्ण प्रशनों के डॉ नरेश त्रेहान द्वारा दिए गए जवाब के अंश

मनीष शुक्ला, छतरपुर : एयर कंडीशनर को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं. कोरोना संकट में इसके उपयोग को लेकर आपका क्या कहना है?

डॉ नरेश त्रेहान : कोविड-19 से पहले जो वायरस आए हैं, उनके मामलों में यह देखा गया है 40-50 डिग्री सेल्सियस पर वह समाप्त हुए हैं। लेकिन कोविड-19 के मामले में अभी कुछ नहीं कहा जा सकता है। इसलिए घर में भी जरुरी है कि मास्क पहनें। घर में भी जिसे सर्दी-जुकाम है, वह मास्क आदि पहनें। रही बात एयर कंडीशनर की तो घर के भीतर यदि सबकुछ ठीक है, किसी में ऐसे लक्षण नहीं हैं, तो कोई दिक्कत नहीं है। लेकिन ऐसी जगहों पर जहां भीड़ अधिक है, और आप हर व्यक्ति के लक्षणों के बारे में पता नहीं है, वहां जाने से भी बचना चाहिए, और एसी चलाने से भी।

डॉ प्रमोद कुमार मिश्रा) : सैनेटाइजर और साबुन कितना प्रयोग करें, क्या कुछ साइड इफेक्ट भी हैं?

डॉ नरेश त्रेहान : दिन में चार-पांच बार 20 सेकंड के लिए हांथ धुलें। हांथ और उंगली के छहों भाग को रगड़कर धुलें। सैनेटाइजर के दुष्प्रभाव के कोई भी मामले अब तक सामने नहीं आए हैं।

विवेक त्रिपाठी (रामपुर) : एक-एक क्लास में 60-70 बच्चे रहते हैं. स्कूल खुलने वाले हैं. क्या सावधानी बरतें?

डॉ नरेश त्रेहान : स्कूलों को खोलना चाहिए कि नहीं जून के अंत में निर्णय होगा। पहले बड़े बच्चों के लिए स्कूल खोलना चाहिए। क्योंकि उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक होती है। क्योंकि लॉकडाउन-4 के बाद भी आप कुछ जगहों को लॉकडाउनर रखना होगा। भीलवाड़ा में आपने देखा कि कैसे उन्होंने प्रारंभिक स्तर पर ही सफलता अर्जित की।

श्रीराम रिछारिया (धवर्रा) : रुपये नोट के जरिए संक्रमण फैलने का कितना खतरा होता है?

डॉ नरेश त्रेहान : पूरी दुनिया में ये सवाल पूछा गया है. लेकिन आज तक ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है. फिर भी लोग डिजिटल पेमेंट की ओर जा रहे हैं. ये भी अच्छी बात है. हां, ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है. लेकिन बचाव के प्रयासों में हम कोई रिस्क नहीं ले रहे हैं.
अख़बारों से संक्रमण के खतरे को लेकर जो आशंका जाहिर की जाती हैं उस पर क्या कहना है?

धीरेंद्र नायक (गढ़ी मलहरा), राजू सरदार, प्रेम गुप्ता : अख़बार से संक्रमण फैलने का कितना ख़तरा होता है? क्या बचाव करना चाहिए?

डॉ नरेश त्रेहान : अख़बार से संक्रमण की कोई जानकारी नहीं आई है। लेकिन फिर भी अख़बार पढ़ने के बाद हांथ तो धोना ही चाहिए। लेकिन मैं आपको यह कहना चाहूंगा कि हम 400-500 टेलीमेडिसिन दे रहे हैं। कुल मिलाकर ऑनलाइन क्षमता और डिजिटल संसाधनों को उपयोग करना होगा। इस वायरस ने हमें कुछ नई बातें दिखाई हैं। वर्क फ्रॉम होम एक नई ताकत के रूप में उभरा है। आप देख रहे हैं कि चीन से लोग भाग रहे हैं। चीन से भाग रही कंपनियों के लिए यदि आप देश में अनुकूल वातावरण देंगे तो उससे आर्थिक लाभ होगा।

मंटू खरे : थर्मल स्क्रीनिंग करवाई जाती है, क्या यह जांच मात्र क्लीनचिट देने के लिए पर्याप्त है?

डॉ नरेश त्रेहान : थर्मल स्क्रीनिंग का मतलब है कि उस समय व्यक्ति के तापमान का पता चलता है। रैपिड टेस्टिंग की जाती है जिससे एंटीबॉडी और उसकी रिकवरी का पता चलता है। कुल मिलाकर वह तात्कालिक जानकारी देते हैं जबकि पीसीआर टेस्ट ही कोरोना लक्षण की पूरी जानकारी देता है।

प्रोफेसर मनीष कुमार सिंघल (भोपाल) पालतू जानवरों से कोरोना संक्रमण फैलने का खतरा कितना रहता है?

डॉ नरेश त्रेहान : दुनिया में आज तक अभी कोई ऐसा मामला सामने नहीं आया. फिर भी सामान्य दिनों या फिर कोरोना के वैश्विक संकट के दौरान पालतु जानवरों के संपर्क में आने के दौरान हर वह ऐहतियात बरतना चाहिए, जो जरुरी होता है।

पंकज खरे (नौगांव) : अधिकांश मामले धूल आदि एलर्जी से पैदा लक्षण भी कोरोना जैसे ही होते हैं. तो उसकी पहचान करें?

डॉ नरेश त्रेहान : देखिए हर व्यक्ति को अपने शरीर की स्थिति, मिजाज का पता होता है. यदि असमान्य स्थिति हो तो डॉक्टरों के पास जाना चाहिए। लेकिन यदि एक दो दिन में चीजें ठीक हो जाती हैं तो फिर कोई चिंता की बात नहीं हैं।

प्रवीण गुप्ता : आरोग्य सेतु में साधरण खांसी-जुकाम डालते ही ऐप आपको जोखिम के दायरे में दिखाने लगता है,तो क्या इसमें सुधार की आवश्यकता है?

डॉ नरेश त्रेहान : इसमें सुधार होगा समय के अनुसार।    

नरेंद्र त्रिपाठी : सार्वजनिक जीवन में न चाहते हुए भी कई बार लोग अभिवादन के लिए पैर छूते हैं, ऐसे में असावधानी या मानवीय भूल के समय क्या करना चाहिए?

डॉ नरेश त्रेहान : राम-राम दूर-दूर से ही करना है. नमस्ते दूर से ही करना है. क्योंकि आपकी जरा सी लापरवाही बड़ी मुसीबत को आमंत्रित कर सकती है। ये कभी न सोचें कि मेरी रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अधिक है। मुझे तो कुछ हो ही नहीं सकता। सरकार जैसे-जैसे प्रोटोकॉल बना रही है. उसका पालन करते रहें।

न्यास की स्वस्थ भारत मुहिम को देंगे समर्थन

इस अवसर पर डॉ नरेश त्रेहान ने कहा कि वह और उनका संस्थान मेदांता द मेडिसिटी गुरुग्राम भविष्य में भी पंडित गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास द्वारा लगाए जाने वाले स्वास्थ शिविर में अपना योगदान देते रहेंगे। उन्होंने आगे भी मल्टी सुपर स्पेशियलिटी हेल्थ कैंप लगाए जाने का भरोसा दिलाते हुए कहा कि वह स्वंय भी इनमें हिस्सा लेने पहुंचेंगे।

महोबा में जल संरक्षण मुहिम को आगे बढ़ाएंगे डॉ नरेश त्रेहान

डॉ नरेश त्रेहान ने इस अवसर पर कहा कि वह पिछले कुछ वर्षों में महोबा और बूंदेलखंड में सूखे की समस्या से निजात दिलाने के लिए जल संरक्षण व उसके संवर्धन का प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए कोकोकोला फाउंडेशन के तत्वाधान में कई स्थानों पर चेक डेम विकसित किए जा रहे हैं, जिसका सुखद परिणाम आना प्रारंभ हुआ है, उन्होंने भरोसा दिलाया कि कोरोना संकट के बाद वह इस अभियान को और गति देंगे।

न्यास की वेलनेस हेल्थ चैट मुहिम को सराहा

पंडित गणेश प्रसाद मिश्र सेवा न्यास ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर तकनीक और उसके सहयोग से समाज के अंतिम व्यक्ति तक टेली मेडिसिन और स्वस्थ भारत अभियान के संदेश को ले जाने के लिए कोरोना संकट के दौरान जिस प्रकार से वेबिनार का आयोजन किया, उसकी डॉ नरेश त्रेहान ने भूरि-भूरि प्रशंसा करते हुए कहा कि यह समय के साथ बदलाव का बेहतरीन उदाहरण है।

वेबिनार में बड़ी संख्या में शिक्षकों, वकीलों, विद्यार्थियों, व्यापारियों एवं महिलाओं ने भाग लिया। कार्यक्रम का संचालन न्यास के अध्यक्ष डॉ. राकेश मिश्र ने किया व सभी का आभार व्यक्त किया ।

5 COMMENTS

  1. बहुत उत्कृष्ट जानकारी ।डॉ त्रेहन को साधुवाद

  2. सफल आयोजन के “सुंदर वृतांत” के लिए आदरणीय अरविंद जी मिश्र को हार्दिक धन्यवाद, आयोजनकर्ता पंडित गणेश जी मिश्र सेवा न्यास,डॉ त्रेहान व श्री सुरेश जी थरेजा टीम सहित मुख्य आयोजनकर्ता ,सूत्रधार भाई साहब डॉ राकेश जी मिश्र के प्रति आत्मीय आभार💐🙏

  3. सफल आयोजन के सुंदर वृतांत के लिए श्री अरविंद जी मिश्र को हार्दिक धन्यवाद,पंडित गणेश जी मिश्र सेवा न्यास ,डॉ त्रेहान,सुरेश जी थरेजा व टीम,मुख्य आयोजनकर्ता,सूत्रधार भाई साहब डॉ राकेश जी मिश्र के प्रति आत्मीय आभार💐🙏😊

  4. सफल आयोजन के सुंदर वृतांत के लेखक श्री अरविंद जी मिश्र को हार्दिक धन्यवाद, डॉ त्रेहान, सुरेश जी थरेजा व टीम,आदरणीय भाई साहब डॉ राकेश जी मिश्र के प्रति आत्मीय आभार।

  5. शानदार, राकेश जी आपका और न्यास का सार्थक प्रयास जिसमें इस कोरोना महामारी के समय देश के प्रसिद्ध डॉ नरेश त्रेहान जी से लोगों की शंकाओं का समाधान कराया। बहुत ही उपयोगी एवं समय की मांग। आपको साधुवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here