लॉकडाउन-2 का फैसला कोरोना की जंग में निर्णायक सिद्ध होगा : प्रधान

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देशभर के तेल कंपनियों के अधिकारियों से मीटिंग करते हुए केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान
  • कोरोना की जंग में लॉकडाउन-2 होगा निर्णायक, पीएम के दिए 7 मंत्र को अपनाएं : धर्मेंद्र प्रधान

नई दिल्ली। केंद्रीय पेट्रोलियम एवं प्राकृतिक गैस तथा इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉकडाउन की अवधि 3 मई तक बढ़ाए जाने के फैसले का स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 14 अप्रैल को राष्ट्र के नाम संबोधन में पीएम ने Covid19 से लड़ाई के निर्णायक पहलूओं पर देश का ध्यान आकर्षित किया है. लॉकडाउन की अवधि बढ़ाकर 3 मई तक किए जाने का यह निर्णय निश्चित रूप से कोरोना की जंग में अदृश्य शत्रु से लड़ने में निर्णायक सिद्ध होगा.

इस मौके पर प्रधान ने कहा कि देश के नागरिकों ने जिस प्रकार से लॉकडाउन के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए धैर्य और कर्मठता का परिचय दिया है, वह कोरोना वायरस को भारत में समाप्त करने में मददगार साबित हो रहा है.

सरकार की सक्रियता और संवेदनशीलता से होंगे कामयाब

वक्तव्य जारी करते हुए आगे उन्होंने कहा कि 130 करोड़ देशवासियों के लिए केंद्र सरकार और राज्य सरकार की एजेंसियों के साथ दिन-रात कार्य कर रहे कोरोना वॉरियर्स जिस तरह इस लड़ाई को नेतृत्व प्रदान कर रहे हैं, वह असाधारण है. यह सरकार द्वारा कोरोना आपदा को लेकर दिखाई गई संवेदनशीलता व सिक्रयता का नतीज़ा है.

इसे भी पढ़ें : चिंता छोड़िए, सैनेटाइज कर घरों में पहुंच रहे सिलेंडर

पीएम के 7 सुझावों को अपनाने की अपील

  • बुजुर्गों की देखभाल करें.
  • सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए, घर में बनें मास्क का उपयोग करें.
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित करें.
  • गरीबों का ख्याल रखें.
  • कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए आयोग्य सेतु मोबाइल ऐप जरूर डाउनलोड करें.
  • कर्मचारियों के साथ सहानभूति रखें.
  • देश के कोरोना वॉरियर्स की देखभाल करें.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान व सुझावों को अपनाकर देश न सिर्फ Covid19 की चुनौतियों पर विजय प्राप्त कर सकता है बल्कि देश के सामाजिक ताने-बाने को भी मजबूत करने में मदद मिलेगी.

इसे भी पढ़ें : आपके घर तक सिलेंडर लाने वाले अंकल के लिए मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला !

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here