मुंबई के मज़दूरों की बेबसी पर उद्धव का बड़ा बयान

उद्धव ठाकरे, मुख्यमंत्री, महाराष्ट्र

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने केंद्र की मोदी सरकार लॉकडाउन-4 के बीच सियासी वार किया है. रविवार को उद्धव ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार की तरफ से अभी तक प्रवासी मजदूरों को उनके गांव भेजने के लिए एक एक रूपया नहीं दिया गया है जबकि महाराष्‍ट्र सरकार ने करोड़ों रुपए खर्च किए हैं. सरकार ने मजदूरों को उनके घरों तक पहुंचाने के लिए स्‍पेशल ट्रेनों में सरकारी खजाने से पैसे देकर श्रमिकों को उनके गांव पहुंचाने का काम किया है और अभी भी किया जा रहा है. आपको बता दें कि कोरोना वायरस ने सबसे बड़ी चोट महाराष्ट्र पर की है. राज्य में कोरोना मरीजों की संख्या 60 हज़ार से 3 हजार ही कम है और 1500 से ज्यादा लोगों की इस बीमारी से जान जा चुकी है. इस बीच महाराष्ट्र के सीएम उद्धव ठाकरे ने रविवार को प्रदेश की जनता को संबोधित किया.

जीएसटी पर जारी है रार

उद्धव ठाकरे ने कहा कि केंद्र सरकार ने राज्य के हिस्से का जीएसटी अभी तक नहीं दिया है. यहां तक की मज़दूरों को उनके गांव तक पहुंचाने के लिए रेलवे के किराए के तौर पर जो पैसे देने थे, वह भी नहीं दिए हैं. ऐसे में राज्य सरकार अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रही है लेकिन लोग इसमें भी राजनीति कर रहे हैं. उद्धव ठाकरे ने कहा की मौजूदा हालात देखकर लगता है 31 मई के बाद भी लॉकडाउन हटेगा या नहीं, कहा नहीं जा सकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here